इंटरनेट पर फिर छाया ‘बाबा का ढाबा’ मशहूर कराने वाले यूट्यूबर के खिलाफ ही थाने पहुंचे ‘बाबा का ढाबा’ के मालिक |

सोशल मीडिया की मदद से पिछले महीने मशहूर हुआ ‘बाबा का ढाबा’ इन दिनों किसी और वजह से खबरों में छाया हुआ है। दरअसल, मालवीय नगर के इस ढाबे के मालिक कांता प्रसाद ने यूट्यूबर गौरव वासन के खिलाफ ‘उनकी और उनकी पत्नी की मदद के लिए जुटाए गए धन के साथ कथित हेराफेरी’ करने के आरोप में शिकायत दर्ज कराई है।

बता दें कि गौरव ने ही 7 अक्टूबर को सोशल मीडिया पर एक वीडियो डालकर इस ढाबा के बारे में बताया था जिसमें बूढे दंपति अपनी परेशानियां साझा करते दिखे। इसके बाद, ढाबा देखते ही देखते लोकप्रिय हो गया और बहुत से लोग वहां जाकर खाने लगे और उन्होंने पैसे दान किए।

धोखाधड़ी का आरोप

प्रसाद ने गौरव पर धोखाधड़ी, बदमाशी, विश्वास का आपराधिक उल्लंघन और आपराधिक साजिश का आरोप लगाया है। पुलिस को दी गई अपनी शिकायत में 80 वर्षीय प्रसाद ने कहा है कि ‘गौरव ने उनका वीडियो शूट करके ऑनलाइन पोस्ट किया और सोशल मीडिया पर जनता को उन्हें पैसे देने की अपील की।’

 

प्रसाद ने कुछ लोगों के साथ शनिवार को मालवीय नगर पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई जिसमें दावा किया गया है कि ‘गौरव ने जानबूझकर अपने परिवार की बैंक डिटेल्स साझा की और दान के रूप में एक बड़ी राशि इकट्ठा कर ली।’ डीसीपी (दक्षिण) अतुल कुमार ठाकुर का कहना है कि, ‘हमें कल शिकायत मिली थी और इस बारे में पूछताछ कर रहे हैं।’ अभी तक कोई FIR दर्ज नहीं की गई है।

गौरव ने जारी किया बैंक स्टेटमेंट

हालांकि, गौरव ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को ठुकरा दिया है और कहा है कि ‘उन्होंने सारा पैसा प्रसाद के अकाउंट में ट्रांसफर कर दिया है।’ उन्होंने फेसबुक पर लेन-देन की तीन रसीदें भी साझा की जो 27 अक्टूबर की है। 1,00,000 रुपये और 2,33,000 रुपये के दो चेक और 45,000 रुपये के बैंक पेमेंट की एक रसीद थी। उन्होंने कहा कि ‘यह तीन दिनों में एकत्रित धनराशि थी।’ वासन ने फेसबुक पर एक बैंक स्टेटमेंट भी डाला, जिसमें तीन दिनों में जमा कुल धनराशि लगभग 3.5 लाख रुपये है। साथ ही उन्होंने कहा कि ‘जिन जिन लोगों ने दान दिया है, वो जाकर चेक कर सकते हैं।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *