फीवर क्लीनिक से साढ़े 11 हजार से भी अधिक लोगों का हुआ उपचार, आसान हुआ इलाज, आमजन के और नजदीक पहुंची स्वास्थ्य सुविधाएं

इंदौर 5 जनू, 2020
फीवर क्लीनिक खुलने से स्वास्थ्य सुविधाएं लोगों के और नजदीक पहुंच गई हैं। इलाज आसान हो गया है और लोगों को अब इलाज के लिए भटकना भी नहीं पड़ रहा। फीवर क्लीनिक को लेकर लोगों की प्रतिक्रिया सकारात्मक है। लोग खुश हैं कि चिकित्सकीय परामर्श हेतु राज्य सरकार एवं जिला प्रशासन ने फीवर क्लीनिक के माध्यम से चिकित्सा सहायता का इतना अच्छा प्लेटफार्म तैयार किया है। शहरवासियों ने कलेक्टर श्री मनीष सिंह का इस सुविधा हेतु बहुत-बहुत आभार व्यक्त किया है।

इंदौर जिले में शहरी एवं ग्रामीण फीवर क्लिनिकों के माध्यम से 4 जून 2020 तक कुल 11 हजार 986 व्यक्तियों ने ओपीडी के दौरान चिकित्सकीय परामर्श लिया। इनमें से 5 हजार 666 शहरी एवं 6 हजार 320 व्यक्ति ग्रामीण फीवर की ओपीडी में आए।

फीवर क्लीनिक स्थापित होने के दिनांक से अभी तक कुल 30 मरीज ऐसे आए हैं जिन्हें सर्दी, खांसी, बुखार एवं सांस लेने में तकलीफ थी। बताया गया है कि सामान्य सर्दी, खांसी के  344 मामले  तथा अन्य बीमारियों के 11 हजार 612 मामले सामने आए हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार फीवर क्लीनिक आ रहे ऐसे व्यक्ति जिनमें कोरोना वायरस के संक्रमण के लक्षण पाए गए, उन्हें अस्पताल रेफर किया जा रहा है। 4 जून 2020 का कुल 91 व्यक्तियों को अस्पताल रेफर किया गया है, जहां उनका उपचार किया जाएगा।

198 लोगों को किया गया होम क्वॉरेंटाइन

फीवर क्लीनिक पहुंचे व्यक्तियों में से 198 व्यक्तियों को चिकित्सकीय परामर्श के उपरांत होम क्वॉरेंटाइन किया गया है। जहां वे होम आइसोलेशन में रहेंगे तथा कोरोना बचाव से संबंधित समस्त उपाय जैसे मास्क पहनना, किसी के नजदीक न जाना, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना तथा घर में किसी एक कमरे में ही अकेले रहना आदि का पालन करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *