डायरी माफिया के साथ दलालों पर भी प्रशासन का शिकंजा , एक दलाल खिलाफ दर्ज करवाई FIR

जमीनी कारोबार में आई तेजी के साथ डायरी माफिया भी शहर में पनप गया , जिस पर नकेल डालने के लिए कलेक्टर मनीष सिंह ने तैयारी शुरू कर दी है ,इसके साथ ही उन प्रॉपर्टी ब्रोकरों यानी दलालों पर भी शिकंजा कसा जा रहा है जो भूखंड या फ्लैट दिलाने के नाम पर जनता को ठगते आये हैं , इसी तरह के एक दलाल प्रवीण अजमेरा के खिलाफ कलेक्टर ने थाना एरोड्रम पर एफआईआर दर्ज करवाई है , प्रवीण अजमेरा ने छोटा बांगड़दा स्थित राजश्री नगर कॉलोनी का एक भूखंड विजय वर्मा और अजय वर्मा को बिकवा दिया जबकि यह भूखंड पंकज पाटोदी के नाम पर रजिस्टर्ड था , मगर प्रवीण अजमेरा ने कूट रचित दस्तावेजों के आधार पर इस भूखंड की रजिस्ट्री फर्जी तरीके से करवा दी और 40 लाख की राशि की ठगी की , विजय वर्मा के बेटे जय वर्मा ने पिछले दिनों प्रशासन को शिकायत की जिसमे बताया गया कि मौके पर उसे भूखंड उपलब्ध नहीं हुआ और उस भूखंड पर किसी और का कब्जा है . जब प्रशासन ने इस पूरे मामले की जांच करवाई और रजिस्ट्रार से रजिस्ट्री की डिटेल भी निकलवाई तो दस्तावेजों के आधार पर पता चला कि प्रवीण अजमेरा ने जो रजिस्ट्री करवाई वह पूरी तरह से फर्जी है , 30 × 50 के प्लाट को दो टुकड़ों में बेचते हुए दो लोगो को फर्जी रजिस्ट्री करवाई , कलेक्टर ने प्रवीण अजमेरा के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई , वहीं कल नगर निगम का अमला एरोड्रम रोड स्थित प्रवीण अजमेरा के मकान को भी जमींदोज करेगा . पिछले दिनों प्रवीण अजमेरा और उसके बेटे का एक वीडियो भी वायरल हुआ था जिसमें दोनों बाप-बेटे बीच सड़क पर एक गरीब व्यक्ति को बेरहमी से पीट रहे थे .

इस तरह डायरी माफिया के साथ दलालों पर भी प्रशासन में सख्त कार्रवाई शुरू कर दी है . कलेक्टर मनीष सिंह का यह भी स्पष्ट कहना है कि कार्यवाही की जाएगी , नियमअनुसार सभी को रेरा रजिस्ट्रेशन करवाना चाहिए , उसके बाद ही वह ब्रोकर का काम कर सकते हैं . प्रशासन की इस कार्यवाही से डायरी माफिया के साथ ब्रोकरों में भी घबराहट फैल गई है .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *